इंसान से भी ज्यादा विकसित जीव Tardigrade (वाटर बीयर)

 

Tardigrade

इंसान से भी ज्यादा विकसित जीव Tardigrade ( वाटर बीयर ) -

इस धरती पर एक छोटा सा जीव ऐसा भी है जो बिना किसी सुरक्षा उपकरण के अन्तरिक्ष की सारी विकट पारिस्थितियों को सहनते हुए जीवित रह सकता है | ये वाटर बीयर शैवाल और नमी वाले स्थानों पर पाए जाने वाले बहुत छोटे जीव हैं |
वाटर बीयर की आकरिकी – माईक्रोस्कोप से देखे जा सकने वाले Tardigrade कुछ – कुछ भालु जैसे दिखते हैं पर इनके आठ पैर होते हैं |
1. बहुत धीमी गति से चलते हैं |
2. इनका आकार 0.5 मिलीमीटर से 1.0 मिलीमीटर तक होता है |
3. दुनिया के सभी जगहों पर पाए जाते है |
4. ये पृथ्वी की हर परिस्थिती को सहन कर सकते है | ( चाहे ये 9000 मीटर की ऊँचाई पर हिमालय पर हो या 4000 मीटर समुद्र की गहराई पर हो | )

नासा अभियान –

सन 2008 में नासा ने एक अभियान के अंतर्गत 3000 Tardigrade को अन्तरिक्ष यान PHOTON-M3 के एक chaimber में भरकर अन्तरिक्ष में छोड़ा गया | इस प्रयोग के परिणाम चौकाने वाले रहे थे | यह पता चला कि Tardigrade अन्तरिक्ष के विषम वातावरण ( निर्वात ) में भी जीवित रहने का सामर्थ्य रखते हैं |
5.  अमूमन 200 वर्ष की आयु वाला यह जलीय जीव उबलते हुए और जमे हुए पानी में भी जीवित रह सकता है |
6.  यह जीव परमाणु बम विस्फ़ोट का दंश भी झेल सकता है |
7.  कई खंडो में पाए जाने वाले इस नन्हे जीव की पूरी दुनिया में 900 प्रजातियाँ पाई जाती है |
8.  इसे जमाया, सुखाया, विकिरणों में रखा जाने पर भी हर हालत में जीवित रह सकता हैं |
9.   –457 °C जितने ठंडे तापमान और 357 °C तक के अकल्पनीय गर्म तापमान तक में भी जीवित रह सकता हैं |
10.  ये 5700 ग्रे परमाणु विकिरण भी सहन कर सकता है | परन्तु मनुष्य या अन्य जीव 10 – 20 ग्रे परमाणु विकिरण में ही मर जाते हैं |
यह जीव लगभग कई दशकों तक बिना पानी के रह सकता है | अगर पृथ्वी से कभी मानव जाती का अंत भी हुआ तो भी यह जीव जीवित रहेगा | कुछ वैज्ञानिकों के प्रयोग में 30 वर्ष तक –20 °C पर जमे रहने पर भी यह जीव जीवित रहा और अंडे देना जारी रखा | तथा संतान उत्पति में भी यह सक्षम रहा |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.