दुनिया का सबसे अधिक जहरीला जीव Golden Poison Dart Frog

 

सबसे अधिक जहरीला जीव Golden Poison Dart Frog

दुनिया का सबसे अधिक जहरीला जीव Golden Poison Dart Frog है | जो अमेजन या कोलंबिया आदि स्थानों के वर्षा वनों में पाया जाने वाला मेंढक है | जो चटकीले चमकीले और पीले रंग के होते हैं | इनकी लम्बाई दो इंच होती हैं | पैर चपटे व चपटा शरीर होता है | इनकी प्रजाति Phylloabate Terribillis है | जो सामान्यता कोलंबिया के वर्षा वनों के पेसिफिक कोस्ट वाले इलाके में पाए जाते हैं | एक वैज्ञानिक अध्धयन के अनुसार - जिस मेंढक का रंग जितना चटकीला होगा, वो मेंढक उतना ही ज्यादा जहरीला होगा |

शिकार के लिए जहर का उपयोग –

कोलंबिया के शिकारी इस मेंढक के जहर का उपयोग शिकार को मारने के लिए करते हैं | जैसे – इस मेंढक के जहर को तीरों पर लगाकर शिकार करने में |

किसी भी प्रकार के डर की आशंका होने पर ये मेंढक अपनी त्वचा से जहर को निकालने लगते हैं | इस जहर में किसी के भी तंत्रिका तंत्र को नष्ट करने की ताकत होती है | जहर का प्रभाव चढ़ने पर नब्ज में ऐठन ( सिकुड़ने ) होने लगती है | मांसपेसियों पर नियंत्रण ख़तम हो जाता हैं | अन्त में दिल का दौरा पड़ने से मरीज को मृत्यु हो जाती है |

वैज्ञानिक भी अब तक इस मेंढक के जहर की गुत्थी को नहीं सुलझा पाए है | उनका मानना है कि इनकी उत्पत्ति 4 करोड़ वर्ष पहले दक्षिणी अमेरिका के उत्तरी भाग में हुई थी | तब इनके पूर्वज जहरीले नहीं थे | बाद में इस प्रजाति के मेंढको ने जंगल में जब चींटियाँ, कीड़े – मकोड़े और अन्य जहरीले जानवरों को खाना शुरु किया, तब यह जहरीले बनते चले गए | वैज्ञानिकों के अनुसार – इन मेंढकों के बच्चों को जहर इनकी माँ से मिलता है | जब ये बच्चे अन फर्टिलाईज अण्डों के रूप में होते है |


इस मेंढक का एक ग्राम जहर 10,000 से भी अधिक लोगो की जान ले सकता है |

चीन के अधिकारियों ने एक पार्सल बरामद किया | जिसमे इस जाती के 10 जहरीले मेंढक पाए गए | यह पार्सल पौलेंड से आया था | इस पार्सल को गिफ्ट के रूप में पैक करके भेजा गया था | बीजिंग स्थित इंसपेक्सन एंड क्वारटाइन बयूरो के मुताबिक गोल्डन डाट फ्रॉग दुनिया का सबसे जहरीला जीव है | इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजरवेशन ऑफ़ नेचर एंड नेचुरल रिसोर्सेस ( IUCN ) ने इसे लाल सुची में रखा है | इसका मतलब है कि इस प्रजाति के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है |

Golden Poison Dart Frog

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.