मेहनत का फल और समस्या का हल जरूर मिलता हैं | मोटिवेशनल स्टोरी ( प्रेरणादायक कहानी )


Motivational Story Solutions

मेहनत का फल और समस्या का हल जरूर मिलता हैं | मोटिवेशनल स्टोरी ( प्रेरणादायक कहानी )

जिंदगी को शांति से जीने के सिर्फ दो तरीके हैं | पहला – माफ़ कर दो उन्हें, जिन्हें आप भूल नहीं सकते | और दूसरा – भूल जाओ उन्हें, जिन्हें आप माफ़ नहीं कर सकते |

ये कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है जो ऑफिस में जॉब करता था | वर्क प्रेशर की वजह से बड़ा ही हताश रहता था | घर आकर सारा गुस्सा अपनी पत्नी और बच्चों पर निकाल देता था | वह घर आकर झगड़ा करता था |

उनकी पत्नी बड़ी परेशान रहती थी कि आखिर पतिदेव को हो क्या गया हैं ? दिन भर इस व्यक्ति को लगता था कि उसकी लाइफ का होना या ना होना बराबर हैं | जब रिश्तेदारों के फोन कॉल आते थे तो ये व्यक्ति ढ़ंग से बात नहीं करता था | जब वीडियों कॉल आते तो ये उन्हें उठाता नहीं था |

इसको ऐसा लगता था कि इसकी जिंदगी का होना न होना बराबर हैं | इसको जिंदगी से मतलब ही नहीं रहा था | ये इतना ज्यादा परेशान हो चुका था | इसको लगता था कि घर का सारा खर्चा मुझे उठाना पड़ रहा हैं | लोन चल रहे हैं | EMI ( ई.एम.आई. ) चुकानी पड़ रही हैं |

काफी सारी टेंशन में था | कुल मिलाकर के आज कि लाइफस्टाइल से परेशान हो चुका था | एक दिन ये बैठा हुआ था तो इसका बच्चा इसके पास में आकर के बोला – पापा, आप मेरी मदद कर दीजिए होमवर्क करवाने में | तो इसने सारा गुस्सा बच्चे पर निकाल दिया |

डांटकर के भगा दिया कि जाओ जाकर के अपने रूम में बैठों | क्या मैं होमवर्क करवाने के लिए बैठा हूँ यहाँ पर ? मुझे अपने ऑफिस का काम करना हैं | बच्चा रुआंसा होकर चला गया | थोड़ी देर बाद जब इसका गुस्सा ठंडा हुआ |

तो इसको लगा कि यार एक बार जाकर के बच्चे से मिलना चाहिए | बच्चे के पास पहुँचा तो देखा कि बच्चा सो चुका था | वो जो होमवर्क की कॉपी वो बच्चे के सिर पर रखी हुई थी | इसने सोचा कि कॉपी को उठाकर के नीचे रख देते हैं |

वो कॉपी को उठाकर के नीचे रखने लगा | तो उसको लगा कि एक बार पढ़ लेते है कि बच्चा क्या कर रहा था ? इसको किस चीज में मदद चाहिए थी | वो होमवर्क पढ़ने लगा तो उसका टाईटल था – “ वो चीजें जो हमें शुरू में अच्छी नहीं लगती लेकिन बाद में अच्छी लगने लगती हैं | ”

इस टाईटल पर बच्चे को निबंध लिखना था | बच्चे ने एक पैराग्राफ लिख दिया था | तो ये व्यक्ति पढ़ने लगा | बच्चे ने लिखा था कि मैं थैंक्यू कहना चाहता हूँ फ़ाइनल एक्जाम को, जो शुरू में तो अच्छे नहीं लगते बड़ी पढ़ाई करनी पड़ती हैं | लेकिन उनकी वजह से गर्मियों की छुट्टियाँ आ जाती हैं |

फिर उसने लिखा कि मैं थैंक्यू करना चाहता हूँ उन कड़वी लगने वाली दवाईयों को, जो स्वाद में तो अच्छी नहीं लगती हैं | लेकिन उनकी वजह से हम ठीक हो जाते हैं |

फिर बच्चे ने लिखा कि मैं थैंक्यू करना चाहता हूँ उन अलार्म वाली घड़ियों को जो हमें सुबह – सुबह  जगा देती हैं | हमें अच्छा नहीं लगता हैं | लेकिन हमें मालूम चलता है कि हम जिंदा हैं |

फिर उसने लिखा कि मैं थैंक्यू करना चाहता हूँ ऊपर वाले को जिन्होंने मुझे पापा दिए हैं | वहीँ पापा जो शुरू में तो मुझे डांटते हैं | मुझे अच्छे नहीं लगते हैं | लेकिन बाद में मुझे मार्केट ले जाते हैं, घुमाते हैं, अच्छा – अच्छा खाना खिलाते हैं, अच्छे – अच्छे खिलौने दिलाते हैं |

तो मैं उनको भी ( भगवान् को ) थैंक्यू कहना चाहता हूँ कि उन्होंने मेरी जिंदगी में पापा भेजें हैं | क्योंकि मेरे दोस्त के तो पापा है ही नहीं !

ये जो आखिरी की लाइन थी इसने इस व्यक्ति को हिला दिया | अंदर तक झंकझोर दिया | मतलब ये नींद से जाग गया | इसको लगा कि इसकी जिंदगी का मतलब क्या हैं ?

ये खुद से बड़बड़ाने लगा | जो बच्चे ने लिखा था उसे कॉपी करने लगा | कि हे ऊपर वाले आपको थैंक्यू ! कि मेरे पास घर हैं क्योंकि कईयों के पास तो घर नहीं हैं |

हे ऊपर वाले आपका थैंक्यू ! मेरे पास बच्चे है, बीवी है, परिवार हैं | क्योंकि कईयों के पास तो परिवार ही नहीं हैं |

हे ऊपर वाले आपका धन्यवाद ! कि मेरे पास ऑफिस है, वर्क है, वर्क प्रेशर हैं | क्योंकि कईयों के पास में तो जॉब ही नहीं हैं |

हे ऊपर वाले आपका धन्यवाद ! कि मेरे पास में वो सारी चीजें है जो कईयों को चाहिए होती हैं | चाहें मैं उनके लिए EMI  दे रहा हूँ लेकिन वो सारी चीजें मेरे पास में हैं |

हे ऊपर वाले आपका शुक्रिया ! कि आपने मुझे जिंदगी दी है, रिश्तेदार दिए हैं | कईयों के पास में तो वो भी नहीं होते हैं | दोस्त दिए हैं जो चाहे मुझे किसी भी समय फोन कर देते हैं | दोस्त दिए हैं जो कईयों के पास में नहीं होते हैं |

इस व्यक्ति को उस दिन अपनी जिंदगी का मतलब समझ में आया |

सीख – जीवन में जो मिला है उसमें खुश रहिए | और ख़ुशी – ख़ुशी अपनी जिंदगी का दायरा बड़ा करने की कोशिश कीजिए | अपने लक्ष्यों को हासिल करने की कोशिश कीजिए |

हम सब में वो ताकत हैं | हम सब कर दिखा सकते हैं | लेकिन उसके लिए हमें अपने जज्बे को बरकार रखना होगा |

Credit : MY FM

साथी तुम संघर्ष करो हम तुम्हारें साथ हैं | मोटिवेशनल कहानी

Motivational Story Solutions

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.