Universe ( ब्रह्माण्ड ) का व्यास

Universe ( ब्रह्माण्ड ) का व्यास
अद्भुत ब्रह्माण्ड की विशेषताएँ
  • हमारे Universe ( ब्रह्माण्ड ) का व्यास लगभग 1,00,00,00,000 प्रकाश वर्ष हैं |
  • पैराबैंगनी किरण, गामा किरण, अवरक्त किरणों को हम सामान्य आँखों से नहीं देख सकते हैं |
  • टंगस्टन धातु बहुत अधिक उच्च ताप पर पिघलती हैं | इसका गलनांक बिंदु 3,000 C हैं |
  • स्टील में ध्वनि की गति सबसे तेज होती हैं |
  • जब मनुष्य लेटी हुई अवस्था में होता हैं तब वह पृथ्वी पर सबसे कम दबाव डालता हैं |
  • ध्वनि निर्वात के आर – पार गमन नहीं कर सकती हैं |
  • जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता हैं, तब सूर्य ग्रहण होता हैं |
  • पृथ्वी की आयु रेडियो – मैट्रिक काल निर्धारण तकनीक द्वारा किया जाता हैं |
  • परमाणु ऊर्जा के उत्पादन में प्रयोग किया जाने वाला युरेनियम आइसोटोप U-235 काम में लिया जाता हैं |
  • उपस्थित द्रव्य एवं ऊर्जा के सम्मिलित रूप को Universe ( ब्रह्माण्ड ) कहते हैं |
  • केवल एक Universe ( ब्रह्माण्ड ) में ही करोड़ो Galaxy ( आकाशगंगा ) उपस्थित होती हैं |
  • बुध ग्रह सूर्य के सबसे नजदीक उपस्थित हैं ग्रह |
  • बृहस्पति ( Jupiter ) सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह हैं | ब्रहस्पति ग्रह को सूर्य की परिक्रमा करने में 12 वर्ष का समय लगता हैं |
  • बृहस्पति ग्रह के 28 प्राकृतिक चाँद ( उपग्रह ) हैं | जिनमे से सबसे बड़ा उपग्रह गयानीमीड उपग्रह हैं |
  • शनि ( Saturn ) ग्रह के 30 प्राकृतिक चाँद ( उपग्रह ) हैं | इसका सबसे बड़ा चाँद टिटॉन हैं | टिटॉन का आकार बुध ( Mercury ) ग्रह के बराबर हैं |

Mass Of Universe ( ब्रह्माण्ड का व्यास )

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.