गुस्सा तो सदा इसकी नाक पर रखा रहता है

 Rhino

गैंडा ( Rhinoceros ) केवल अफ्रीका और एशिया में पाया जाता हैं |
  1. यह शाकाहारी और स्तनधारी जीव हैं | यह पेड़ – पौधों की पत्तियाँ और घास खाते हैं |
  2. इनकी 5 प्रजातियाँ पाई जाती हैं |
  3. इस पर विलुप्त होने का खतरा मंडरा रहा हैं जिस कारण इनका संरक्षण आवश्यक हैं |
  4. सामान्यता यह शांतिप्रिय जीव हैं |
  5. लेकिन छेड़े जाने पर यह बहुत ही आक्रामक हो जाता हैं और अपने सींग से दुसरे जीव पर वार करता हैं |
  6. इनकी लम्बाई 10 से 15 फीट हो सकती हैं |
  7. इनका वजन 1,500 से 3,500 किग्रा. तक हो सकता हैं |
  8. इनका जीवनकाल 30 से 50 वर्ष का होता हैं |
  9. ये 55 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज रफ्तार से दौड़ सकते हैं |
  10. ये काले, भूरे और सफ़ेद रंगों में पाए जाते हैं |
  11.  इनके सींग की सबसे अधिक लम्बाई 140 सेमी. तक दर्ज की गयी हैं |
  12.  इनकी कुछ प्रजातियों में 1 व कुछ प्रजातियों में 2 सींग होते हैं |
  13. इनका सींग केरोटीन का बना होता हैं |
  14.  वास्तविक रूप से मनुष्यों के अलावा इनका कोई शिकारी नहीं हैं |
  15. लेकिन शेरों, मगरमच्छों, भेड़ियों आदि द्वारा इनका शिकार दुर्लभ हैं |
  16.  एक समय लाखों की संख्या में पाये जाने वाले गैंडो के अत्यधिक शिकार के कारण इनके विलुप्त होने का खतरा मंडरा रहा हैं |
  17. इनका शिकार इनके बड़े सींगों और मोटी खाल के लिए किया जाता हैं |
  18.  अनुमान के मुताबिक गैंडे धरती पर करोड़ो वर्षों से मौजूद हैं |
  19.  एक मान्यता के अनुसार गैंडे के सींग का चूर्ण औषधि का काम करता हैं |
  20. इसके कारण भी काले बाजार में गैंडे के सींग की मांग बढ़ी हैं जो इनके शिकार को बढ़ावा देता हैं |
  21.  कुछ दावों के अनुसार प्राचीन समय में आग छोड़ने वाले गैंडे भी मौजूद थे, जो भारत, बर्मा और मलेशिया में पाए जाते थे |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.