इंसानों की नाक में दम करने वाला जीव

Rat

  • चूहा ( Rat ) एक स्तनधारी जीव हैं जो सम्पूर्ण विश्व में पाया जाता हैं |
  • यह भूरे, काले और सफ़ेद रंग में पायें जाते हैं |
  • इनकी अब तक 64 प्रजातियाँ खोजी जा चुकी हैं |
  • सामान्यता घरेलु चूहों के बिल्लीकुत्ते ही मुख्य शिकारी हैं |
  • इनका गर्भकाल 21 से 24 दिनों का होता हैं |
  • ये एक वर्ष में 15 बार बच्चे पैदा कर सकतें हैं |
  • ये एक बार में 8 से 12 बच्चे पैदा कर सकतें हैं |
  • इनकी इतनी तेजी से और इतने अधिक बच्चे पैदा करने की काबिलियत के कारण ही ये नशीली दवाओं और अनेक प्रयोगों के परीक्षण के लिए वैज्ञानिकों की पहली पसंद बन गये हैं |
  • इन्हें सामान्यता हानिकारक और रोगवाहक के रूप में देखा जाता हैं |
  • ये मनुष्यों की अनेक वस्तुओं, कपड़ों, कागजों और फसलों को बहुत अधिक नुकसान पहुँचाते हैं |
  • ये कई वायरसों के रोगवाहक का कार्य भी करतें हैं |
  • जिनसे हंटावायरस, प्लेग रोग, लस्सा बुखार आदि बीमारियाँ फैलती हैं |
  • पिछले 200 वर्षों से चूहों को पालतु भी बनाया गया |
  • सामान्यता सफ़ेद चूहों को पालतु बनाया जाता हैं जो आकर्षण का केन्द्र बनते हैं |
  • चूहे भी बुद्धिमान होते हैं जो इनको मनुष्यों के पास रहने में मदद करता हैं |
  • फ्रांस, अमेरिका, ताईवान, थाईलैंड, वियतनाम, कम्बोडिया, फिलीपिंस जैसे कई देशों में चूहे भोजन के रूप में खाये जाते हैं |
  • जबकि कई देशों पेरू और शिपीबो में इनके मांस खाने पर प्रतिबन्ध हैं |
  • इस्लाम धर्म में भी चूहे का मांस खाने पर प्रतिबंध हैं |
  • इनके सूँघने की शक्ति बहुत अधिक होती हैं |
  • इनको सिखाना आसान होता हैं |
  • बेल्जियम की एक संस्था APOPO चूहों की ट्रेनिंग कराती हैं जो T.B. के निदान और विस्फोटकों का पता लगाने की ट्रेनिंग देती हैं |
  • चूहे को हिन्दुओं के देवता गणेश के वाहन के रूप में दिखाया जाता हैं |
  • इसी कारण देवता गणेश की मूर्ति के पास एक चूहे की मूर्ति भी होती हैं |
  • भारत के उत्तर पश्चिमी राज्य में स्थित करणी माता के मंदिर में बहुत अधिक चूहे हैं जो मंदिर के साधुओं का पुनर्जन्म माना जाता हैं |
  • ये चूहे प्रसाद के बर्तनों में खुली आजादी से घूमतें रहतें हैं और उसमें से खाते रहतें हैं | श्रृधालुओं को प्रसाद भी उसी बर्तन में से दिया जाता हैं
  • जिसमें से चूहे खातें रहतें हैं |
  • लेकिन आश्चर्यजनक रूप से अभी तक एक भी ऐसा मामला सामने नहीं आया हैं जिसमें उस मंदिर से लिए प्रसाद से किसी भी श्रधालु को कोई बीमारी हुई हो |
  • चूहे कई बॉलीवुड और हॉलीवुड फिल्मों का भी हिस्सा रहें हैं |
  •  ये कई कहानियों और उपन्यासों में भी अहम भूमिका में रहें हैं |

Toggle 

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.