AIDS रोग इंसानों में चिम्पैंजी

AIDS

  1. दूध की शुद्धता Lactometer ( लैक्टोमीटर ) से मापी जाती हैं |
  2. शरीर का ताप मापने के लिए सामान्यता थर्मोमीटर का उपयोग किया जाता हैं |
  3. पानी पर मच्छरों के लार्वा तैरते हैं लेकिन पानी में कैरोसीन ( मिट्टी के तेल ) छिड़क देने पर उसका पृष्ठ तनाव कम हो जाता हैं | जिससे लार्वा डूबकर मर जातें हैं |
  4. इंसानों में प्लेग रोग चूहों से फैलता हैं |
  5. AIDS रोग इंसानों में चिम्पैंजी के जरिये फैला था |
  6. स्वाइन फ्लू का वायरस H1N1 मुर्गियों व सुअर के जरिये इंसानों में फैला |
  7. इन्फ्लुएंजा जुकाम – बुखार का वायरस बतख और घोड़ों से जरिये इंसानों में फैला |
  8. इबोला चमगादड़ के जरिये इंसानों में फैला था |
  9. मेड काऊ डिजिज मवेशियों का संक्रमित मांस खाने से इंसानों में फैला |
  10.  एन्थ्रेक्स जो कि बहुत ही घातक रोग हैं ये भी मवेशियों के जरिये फैला |
  11.  RBC केवल 120 दिनों तक ही जीवित रहती हैं |
  12.  एक सेकण्ड में लगभग 20 लाख RBC जन्म लेती हैं |
  13.  कोशिकाओं के टुकड़े को प्लेटलेट्स कहते हैं |
  14.  DNA जीवन का ब्लूप्रिंट होता हैं |
  15.  DNA फिंगर प्रिंटिंग की खोज एलेक जेफरी ने की |
  16.  सूअर का कच्चा मांस खाने पर स्वस्थ व्यक्ति में टीनिया सोलियम रोग उत्पन्न करता हैं | जिससे उल्टी – दस्त आदि रोग होते हैं |
  17.   C2H5 -OH    à      पीने योग्य शराब
  18.   CH3 -OH    à       कच्ची शराब
  19.  कायिक जनन से क्लोन उत्पन्न होते हैं |
  20.  फीताकृमि में स्वनिषेचन पाया जाता हैं |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.