ब्रहमाण्ड के 73 % भाग में Dark Energy, 23 % भाग तक Dark Matter

Dark Energy Dark Matter

अद्भुत ब्रह्माण्ड की विशेषताएँ –
  • ब्रहमाण्ड के 73 % भाग में Dark Energy , 23 % भाग तक Dark Matter , 3.6 % Intergalactic Gas और केवल 0.4 % भाग पर तारें, ग्रह और अन्य पदार्थ हैं |
  • आकाशगंगाएँ समूहों के रूप में पायी जाती हैं | एक समूह में इनकी संख्या 30 तक होती हैं |
  • अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में जाने से पहले Scuba Diving सीखते हैं | जिससे उनको कम गुरुत्वाकर्षण में चलने में कोई परेशानी ना हो |
  • अंतरिक्ष में जाने वाला पहला जीव लाइका नामक कुतिया थी | जिसे 1957 में Sputnik 2 अंतरिक्ष यान में भेजा गया था | लेकिन दुर्भाग्य से ऑक्सीजन खत्म होने के कारण उसकी मौत हो गयी |
  • सबसे पहले अंतरिक्ष में जाने वाले सोवियत रूस के अंतरिक्ष यात्री यूरी गार्गिन थे | जो सन 1961 में Vostok 1 अंतरिक्ष यान के द्वारा अंतरिक्ष में गए |
  • ब्रहमाण्ड में सबसे हल्की गैसें हाइड्रोजन और हीलियम हैं |
  • एक Supernova Releases में हिरोशिमा पर गिराये गए परमाणु बम के विस्फोट में उत्पन्न हुई 84 ट्रिलियन जूल ऊर्जा के मुकाबले 1,25,000 ट्रिलियन ट्रिलियन गुणा जूल ऊर्जा उत्पन्न होती हैं |

अब तक खोजे गये अनेकों ग्रहों के वायुमंडल में से केवल पृथ्वी का ही वायुमंडल मनुष्य के सांस लेने योग्य हैं |

  • बृहस्पति पर अगर कोई अंतरिक्ष यान भेजा जाये तो वह इसकी सतह पर नही उतर सकता हैं | क्योंकि बृहस्पति और शनि ग्रह ज्यादातर हाइड्रोजन और हीलियम गैसों के बने हुए हैं |
  • सौरमंडल का सबसे बड़ा उपग्रह बृहस्पति का उपग्रह Ganymede हैं |
  • एक अंतरिक्ष यान को गुरुत्वाकर्षण को पार करने के लिए 11.2 किलोमीटर प्रति सेकण्ड की रफ़्तार पर गति करनी पड़ती हैं |
  • ब्रहमाण्ड में सबसे तेज घूमने वाली वस्तु न्युट्रोंन तारें हैं |
  • जो एक सेकण्ड में 500 चक्कर प्रति सेकण्ड की रफ़्तार से घूमतें हैं |
  • अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले उपग्रह, अंतरिक्ष यान अपना ईंधन बचाने और तेज गति से सफ़र करने के लिए किसी भी ग्रह के गुरुत्वाकर्षण का उपयोग अपने रास्ते पर जाने के लिए गुलेल ( Catty ) की तरह इस्तेमाल करते हैं |
  • सबसे पहला Space Station अप्रैल 1971 को सोवियत रूस के द्वारा छोड़ा गया |
  • उपग्रह अंतरिक्ष यान को पृथ्वी की सतह से 200 किलोमीटर ऊपर कक्षा में बने रहने के लिए 8 किलोमीटर प्रति सेकण्ड की रफ़्तार पर उड़ना पड़ता हैं |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.