Hyenas ( लक्कड़बग्गघे ) अस्थिमज्जा का भक्षण करते हैं

Hyenas
Hyenas

Hyenas ( लक्कड़बग्गघे ) अस्थिमज्जा का भक्षण करते हैं

जीव – जंतुओं की अदभुत विशेषताएँ –
  • Hyenas ( लक्कड़बग्गघे ), कुत्तें तथा गिद्ध अस्थिमज्जा ( Bone marrow ) का भक्षण करते हैं |
  • सेलामैंडर का गर्भकाल जीवों में संभवतः सबसे अधिक लगभग 1100 दिन का होता हैं |
  • भालु को एक दिन में लगभग 35,000 k ( कैलोरी ) की आवश्यकता होती हैं |
  • गोनियों लैक्स जीव के विष के कारण समुद्री मछलियाँ व जीव मर जाते हैं |
  • एक कोशिकीय जीव की प्राकृतिक मृत्यु नही होती हैं | जैसे – अमीबा |
  • मधुमक्खी में निषेचित अण्डों से मादाएँ विकसित होती हैं जबकि अनिषेचित अण्डों से नर विकसित होतें हैं |
  • प्रोटोजोआ सदस्य अमर होते हैं | क्योंकि इनमे कोशिकाद्रव्य व जननद्रव्य में विभेदन नहीं होता हैं |
  •  युग्लिना पादप व जंतुओं के बीच की योजक कड़ी हैं | क्योंकि इसमे कलोरोप्लास्ट पाया जाता है |
  •  यूरोमैस्टिक्स नामक जीव में नारंगी रंग के फेफड़े पाए जाते हैं |
  •  मोलवा ( Molva ) नामक मछली लगभग 30 लाख अंडे देती हैं |
  •  भारतीय बतासी ( Swifts ) 320 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ता हैं |
  •  गप्पी मछली पोइसिलिया एक बार में 50 शिशु उत्पन्न करती हैं |
  • प्लैटिपस और इकीड़ना मात्र 2 ही ऐसे जीव हैं जो अंडे देते हैं और बच्चों को दूध भी पिलाते हैं |
  • फ्रियनिसोमा ( Phrynosoma ) अपने शत्रुओं से बचने के लिए अपनी आँखों से रक्त की धार छोड़ता हैं |
  • समुद्री जंतुओं में सबसे अधिक रोशनी उत्पन्न करने वाला जीव कौनसा हैं ?

Ans . पायरोसोमा ( Pyrosoma ) |

  • दुनिया की एकमात्र जहरीली छिपकली कौनसी हैं ?

Ans . हीलोडर्मा ( Heloderma ) छिपकली |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.