अंतरिक्ष में सबसे दूर मनुष्य की बनाई चीज

Voyager 1 aircraft

Voyager 1 aircraft
Voyager 1 अंतरिक्ष यान
अंतरिक्ष में सबसे दूर मनुष्य की बनाई चीज

अंतरिक्ष में सबसे दूर स्थित मनुष्य की बनाई चीज Voyager 1 अंतरिक्ष यान हैं | Voyager 1 पृथ्वी से सबसे दूर मानव निर्मित वस्तु हैं |

Voyager 1 को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA द्वारा 5 सितंबर 1977 को छोड़ा गया |

इस अंतरिक्ष यान का कुल वजन लांच के समय 815 किग्रा. जबकि अब इसका अनुमानित वजन 733 किग्रा. के लगभग हैं |

Voyager 1 अंतरिक्ष यान एक दिन में लगभग 14,68,800 किलोमीटर की यात्रा कर रहा हैं |

यह अंतरिक्ष यान 62,140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अंतरिक्ष में सफ़र कर रहा हैं | ( लगभग 17 किलोमीटर प्रति सेकण्ड )

Voyager 1 पृथ्वी से लगभग 18.8 अरब किलोमीटर दूर हैं और यह दूरी हर एक सेकण्ड के साथ लगातार बढ़ रही हैं |

Voyager 1 40 वर्षों से लगातार कार्य कर रहा हैं और लगातार पृथ्वी पर डेटा भेज रहा हैं |

इससे पृथ्वी तक संकेत पहुँचने में 18 घंटे लगते हैं |

Voyager 1 को एक अंतरिक्ष अभियान के लिए भेजा गया था | 2012 में यह अंतरिक्ष यान सौरमंडल को पार करने वाला पहला अंतरिक्ष यान बन गया | सौरमंडल के बाहर जाकर लगातार आश्चर्यजनक तथ्य उजागर कर रहा हैं | Voyager 1 intersteller Space के पार गया |

अनुमानित है कि Voyager 1 लगभग 2025 तक सक्रिय रूप से कार्य करेगा | लेकिन वैज्ञानिकों का मानना है कि इसका Thermoelectric Generators लम्बे समय तक कार्य नही करेगा |

NASA ने अनुमान लगाया है कि यह शायद आकाशगंगा के चारों ओर भटकने लगेगा |

Voyager 1 में कुछ आवाजें और संगीत रिकॉर्ड करके भेजे गये हैं | जिनमें Golden Record With Songs Mix, अमेरिका के राष्ट्रपति का एक भाषण, एक बच्चे के रोने की आवाज और कुछ संगीतकारों का संगीत भेजा गया हैं |

Golden Record

 

Voyager 1 ने अब तक अनेक चीजों की जाँच की हैं | जिनमें प्रकाश, Dark Matter, Dark Energy, नये तारों, ग्रहों, उपग्रहों, अनेक पिंडो की पहचान, वायुमंडल की जाँच, गुरुत्वाकर्षण, चुम्बकीय क्षेत्र, कम ऊर्जा कणों में परिवर्तन, ब्रह्माण्डीय किरणों, प्लाज्मा और प्लाज्मा तरंगो के साथ – साथ पराबैंगनी स्पेक्ट्रम आदि |

इससे जीवन को समझने में मदद मिलेगी |

Voyager 1 aircraft

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.