भूतों के बारे में 25 अनोखे – भयानक तथ्य

ghost

ghostभूतों के बारे में अनोखे – भयानक तथ्य –

भूत ( ghost ) शब्द भूतकाल ( Past ) से लिया गया हैं | जिसका मतलब होता है बीता हुआ समय |

  • भूत – प्रेत का मतलब लोककथा, संस्कृति में अलौकिक ( Spiritual Lords ) जीव होते हैं | जो किसी व्यक्ति के मरने पर उसकी आत्मा से बनते हैं |
  • ऐसा माना जाता है कि जिस किसी व्यक्ति की प्रबल इच्छा मरने से पहले पूरी नही होती | तब वो मरने के बाद स्वर्ग और नरक में नही जा पाता और यही भटकता रह जाता हैं | और उसकी आत्मा इस प्रबल इच्छा को पूरी करने के लिए बेचैन रहती हैं और कभी – कभी वह भयानक भी हो जाती हैं | और अपने इच्छा पूरी करने के लिए किसी को मारने या नुकसान पहुँचाने के लिए तैयार रहती हैं |
  • भूत – प्रेत, आत्माओं या Paranormal चीजों में मनुष्य को मानसिक शारीरिक और भावनात्मक रूप से प्रभावित करने की क्षमता होती हैं |
  • Paranormal चीजें किसी विशेष वस्तु, किसी विशेष स्थान, किसी विशेष इंसान से जुड़ी रहने के कारण भी वे वही रहती हैं |
  • अगर किसी व्यक्ति की असमय मृत्यु हो जाती हैं | तब भी आत्मा, शैतान का रूप ले लेती हैं |
  • भूत – प्रेत और आत्माएँ कम प्रभावी या कम शक्तिशाली होते हैं | जबकि शैतान, दानव ( Demons ), हैवान ( Devil ) या जिन्न बहुत अधिक शक्तिशाली होते हैं |ghost
  • सभी Paranormal चीजों में किसी भी वस्तु को इधर से उधर करने की असामान्य शक्ति होती हैं |
  • आत्माएँ और भूत – प्रेत उन जगहों की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं | जिन जगहों पर बहुत अधिक मृत्यु हुई हो |
  • भूत ( ghost ) Magnetic Field की ओर आकर्षित होते हैं |
  • दुनिया के लगभग 80 % लोग भूतों को Real ( वास्तविक ) मानते हैं |
  • भूत – प्रेत जैसी सभी Paranormal चीजें इंसानों से ही ऊर्जा ( Energy ) ग्रहण करते है |
भूतों के बारे में अनोखे – भयानक तथ्य –

ghost

  • ये सभी चीजें मनुष्यों को एक बैटरी की तरह इस्तेमाल करती हैं | कोई व्यक्ति जितना इनसे डरता है उतनी ही इनकी ऊर्जा बढ़ती जाती हैं और उस व्यक्ति की ऊर्जा घटती जाती हैं | इस तरह भूत – प्रेत मनुष्य पर हावी होने लगते हैं |
  • सर्वे के अनुसार यह भी पाया गया है कि भूत – प्रेत जिस उम्र के व्यक्ति को दिखते हैं | तो भूत – प्रेत उस व्यक्ति के उम्र के बराबर ही अपना रूप बदल लेते हैं | जैसे – जब कोई भूत किसी बच्चे से मिलता है तो वह अपना रूप किसी बच्चे के रूप में बदल लेता हैं |
  • सामान्यता छोटे बच्चों और जानवरों में भूतों को देखने की अधिक संभावना होती हैं | क्योंकि बच्चों में ऊर्जा का स्तर अधिक होता हैं |
  • ऐसी बहुत सी घटनाएँ मौजूद हैं | जिनमें देखा गया है कि छोटे बच्चे भूत प्रेतों को अपना काल्पनिक दोस्त समझ लेते हैं और उनके साथ खेलते हैं |ghost
  • जिन जगहों पर भूत – प्रेत, हैवान, शैतान, जिन्न, दानव होते हैं | उन जगहों पर जब कोई इंसान रहता है तो ये Paranormal चीजें अपनी मौजूदगी उन इंसानों को दिखाने के लिए जाहिर करते हैं | इसलिए वे इंसानों को बार – बार डराने की कोशिश करते हैं |
  • ऐसा माना जाता है कि इंसान मरने से पहले जो कपड़ें पहने रखता हैं | आत्मा बनने के बाद भी वह वही कपड़ें पहने रहता हैं |
  • ऐसा भी माना जाता है कि मृत व्यक्ति की आत्मा अपने स्वयं के शरीर के आस – पास चक्कर लगाती रहती हैं | और आत्मा शरीर के अन्दर बार – बार जाने की कोशिश करती रहती हैं |
भूतों के बारे में अनोखे – भयानक तथ्य –

ghost

  • भूत – प्रेत जैसी चीजों की मौजूदगी जहाँ पर होती हैं उस जगह पर आस – पास की अन्य जगहों के मुकाबले अधिक ठण्ड महसूस होती हैं | चाहे उसके आस – पास की जगह पर गर्मी ही क्यों ना हो | उस जगह पर सांस लेने में भी परेशानी होती हैं |
  • विज्ञान के अनुसार भूतों का दिखना Optical illusion ( दृष्टि भ्रम ) का परिणाम हैं |
  • भूत – प्रेतों का आभास होना मानसिक विकार के कारण भी होता हैं |
  • हमारे मस्तिष्क की संवेदनशीलता के कारण हमारा मस्तिष्क हमारी आँखों द्वारा देखी गयी सभी चीजों में चेहरे ढूँढ़ने की काबिलियत के कारण भूत – प्रेतों को देखने की घटनाएँ संभव हो पाती हैं | ( ऐसा अक्सर रात के समय ज्यादा होता हैं | )
भूतों के बारे में अनोखे – भयानक तथ्य –
  • वैज्ञानिकों के अनुसार यह बताया जाता है कि जब किसी व्यक्ति में भूत ( ghost ) या प्रेत प्रवेश कर जाता है तो उसमें अनोखी शक्तियाँ आ जाती हैं | जिससे वे भारी से भारी चीजें उठा सकते हैं, बहुत तेज चिल्ला सकते हैं, बहुत तेज दौड़ सकते हैं या अपने आप को चोट पहुँचा सकते हैं और उन्हें कोई दर्द भी महसूस नही होता | लेकिन जब वे सामान्य स्थिती में आते है तो उन्हें दर्द का अहसास होता हैं | ऐसा हमारे शरीर में पाए जाने वाले विशेष प्रकार के रसायन एड्रीनल हार्मोन के स्राव के कारण भी होता हैं | ( उदाहरण के लिए जब किसी व्यक्ति को कुत्ता काटने के लिए उसके पीछे दौड़ता है तो कई – कई बार ऐसा देखा गया है कि कुछ लोग उस कुत्ते से भी तेज दौड़कर उससे दूर भाग जाते हैं | लेकिन जब उनसे यह पूछा जाता है कि तुम इतनी तेज कैसे भाग सके | तो उनका जवाब होता है कि मुझे नही पता कि मैं कुत्ते से तेज कैसे दौड़ पाया | )
  • वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का मानना है कि भूत – प्रेत जैसी चीजें मनुष्य के दिमाग की उपज हैं | ये मनुष्य के दिमाग की त्रुटियों ( Errors ) के कारण होता हैं | वैज्ञानिक इन्हें Personality Disorder मानते है |

ghost

भूत – प्रेत की कहानियाँ रोहित, रोशेल और मनीष की कहानी

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.