डायनासोर धरती पर राज करने वाले भयानक जीव थे

Danzer-Dinosaur

Danzer-Dinosaur
T-Rex
डायनासोर धरती पर राज करने वाले भयानक जीव थे

Dinosaur इस शब्द का अर्थ भयानक बड़ी छिपकली होता हैं | अब तक 1400 प्रकार के डायनासोर की प्रजातियों के जीवाश्म मिले हैं | ये ठंडे खून वाले जीव थे | ये शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार के थे | कुछ डायनासोर 2 पैरों पर और कुछ 4 पैरों पर चलते थे | जबकि कुछ उड़ते भी थे | अब तक डायनासोरों के 500 वंशों और 1000 से अधिक प्रजातियों की खोज की जा चुकी हैं | लगभग सभी डायनासोर अंडे देने के लिए घोंसले बनाते थे | डायनासोरों का वजन 30,000 से लेकर 1,00,000 किग्रा. तक होता था |

कुछ डायनासोर की प्रजातियाँ मनुष्य से बहुत बड़ी थी तो कुछ मनुष्य से बहुत छोटे भी थे |Danzer-Dinosaur

Danzer Dinosaur

अधिकतर जीवाश्म विज्ञानी पक्षियों को डायनासोरों के आज तक जीवित वंश मानतें हैं | क्योंकि रिसर्च से पता चला हैं कि पक्षियों का विकास जुरासिक काल के दौरान थेरोपोड़ डायनासोर से हुआ था | माना जाता हैं कि पक्षी थेरोपोड़ डायनासोरों का एकमात्र जीवित वंश हैं | डायनासोरों का श्वसन तंत्र पक्षियों के समान पाया गया हैं | डायनासोर एक – दुसरे से संवाद करने के लिए आवाजों और इशारों का भी प्रयोग करते थे |

डायनासोर कितने बड़े थे ?

ये आकार में लगभग 30 मीटर लम्बे थे और इनकी ऊँचाई 20 मीटर तक थी |

सबसे छोटे डायनासोर कौनसे थे ?

सबसे छोटे डायनासोर की प्रजाति एसडाउन मैनिरैपटोरैन और चूमा को माना जाता हैं | इनकी ऊँचाई लगभग 13 इंच और लम्बाई 16 इंच के आस – पास थी | ये मनुष्य की तरह सर्वाहारी थे और पूरी तरह विकसित डायनासोर थे |

सबसे बड़े डायनासोर कौनसे थे ?

सबसे बड़े और भारी – भरकम डायनासोर जिराफाटिटन, टाइटैनोसोर्स और सायरोपोड्स थे और कुछ वैज्ञानिक ड्रेडनॉटस को सबसे बड़ा डायनासोर मानतें हैं | जिसका वजन लगभग 100 टन था |

डायनासोर कहाँ – कहाँ पाए जाते थे ?

डायनासोर विश्व के सभी स्थानों पर पायें जाते थे | इनके जीवश्म सभी महादीपों से मिले हैं |

डायनासोर कितने वर्षों तक धरती पर रहें ?

डायनासोर लगभग 16 करोड़ वर्ष तक पृथ्वी पर राज करने वाले पहले स्थलीय कशेरुक जीव थे | ये ट्राइएसिक काल के खत्म होने के बाद से लेकर क्रिटेशियस काल के अंत तक अस्तित्व में रहें |

डायनासोर कितने अंडे देते थे ?

डायनासोर की लगभग सभी प्रजातियाँ 2 से लेकर 12 तक अंडे देते थे | इनके अंडे यॉक युक्त और कठोर कैल्शियम कार्बोनेट के बने होते थे |

डायनासोरों का अंडा कितना बड़ा होता था ?

कुछ डायनासोरों की प्रजातियों के अण्डों का आकार वर्तमान में जीवित शुतुरमुर्ग के अंडे के लगभग बराबर था | तो किसी का इससे बहुत छोटा और कुछ प्रजातियों के अंडे शुतुरमुर्ग के अंडे से एक या 2 इंच बड़े थे |

डायनासोर क्या खाते थे ?

मांसाहारी डायनासोर दुसरे डायनासोरों और अन्य छोटे जीवों को खाते थे | शाकाहारी डायनासोर पेड़ – पौधों की पत्तियाँ और फल खाते थे | डायनासोरों की कई प्रजातियाँ लकड़ी भी खाती थी | लेकिन लकड़ियाँ खाने की आदत मौसम पर निर्भर करती थी | किसी खास मौसम में डायनासोर फफूंद लगी लकड़ियाँ खाते थे |

Danzer-Dinosaur
Pterosaur

Danzer Dinosaur

क्या डायनासोर उड़ते भी थे ?

कुछ डायनासोरों के कंकाल में पंख भी मिलें हैं | लेकिन यह बात स्पष्ट नही हैं कि डायनासोर अपने पंखो का इस्तेमाल उड़ने के लिए करते थें या फिर मादा डायनासोर को आकर्षित करने के लिए |

डायनासोरों का दिमाग कितना बड़ा था ?

डायनासोर के दिमाग का आकार एक टेनिस की गेंद जितना था | लगभग 3 इंच बड़ा |

डायनासोर कितने बुद्धिमान थे ?

डायनासोरों के दिमाग का आकार छोटा होने के कारण ये कम अक्लमंद थे |

डायनासोरों के कितने व कितने बड़े दाँत थे ?

डायनासोरों अलग – अलग प्रजातियों में दाँतों की संख्या अलग – अलग होती थी | उदाहरण – डायनासोरों की मांसाहारी प्रजाति T-Rex में 60 दाँत होते थे | जो 9 इंच लम्बे थे |

डायनासोरों की Bite Force कितनी थी ?

डायनासोरों की काटने की शक्ति 6000 Bite Force के लगभग थी जो आज के मगरमच्छ के काटने से 3 गुना अधिक थी |

क्या पानी में रहने वाले डायनासोर भी थे ?

अध्धयनों से पता चला है कि पानी में रहने वाले डायनासोर भी मौजूद थे | उदाहरण – इक्थियोसॉर |Danzer-Dinosaur

Danzer Dinosaur

डायनासोरों का रंग कैसा था ?

डायनासोरों का रंग गहरा हरा, भूरा और काला था | डायनासोरों की चमड़ी आज के मगरमच्छों, घड़ियालों और छिपकलियों जैसी मोटी और चकतेदार शल्क वाली रही होगी |

डायनासोर रात्रिचर थे या दिनचर ?

सामान्यता बड़े आकार के डायनासोर दिन के समय सक्रिय रहते थे | और छोटे आकार के डायनासोर रात के समय सक्रिय रहते थे |

क्या डायनासोर अपने बच्चों की देखभाल भी करते थे ?

हाल ही में पता चला है कि डायनासोर अपने अण्डों की देखभाल भी करतें थे और …

अण्डों से निकले बच्चों की सुरक्षा करते थे | ताकि बच्चें सही सलामत रहें | इस तरह का बर्ताव काफी कुछ पक्षियों से मिलता – जुलता हैं |

डायनासोर क्यों विलुप्त हो गए ?

डायनासोरों के विलुप्त होने का कोई पुख्ता प्रमाण मौजूद नही हैं | लेकिन कई वैज्ञानिकों के अनुसार एक भीमकाय उल्कापिंड के पृथ्वी से टकराने पर | लेकिन कुछ वैज्ञानिकों के अनुसार इनका विलुप्त होने का कारण प्रचंड ज्वालामुखी विस्फोट था | एक अन्य कारण के अनुसार भुखमरी के चलते विलुप्त हुए |

क्या डायनासोरों को दोबारा जिन्दा किया जा सकता हैं ?

वैज्ञानिक डायनासोरों को दुबारा जीवित करने पर लगातार रिसर्च कर रहें हैं | डायनासोरों का निर्माण करने के लिए शुतुरमुर्ग को मुख्य रूप से चुना गया हैं और शुतुरमुर्ग को धीरे – धीरे डायनासोर की एक छोटी प्रजाति के रूप में विकसित करने के लिए रिसर्च की जा रही हैं | लेकिन डायनासोर को सीधे रूप में विकसित करने में एक बहुत बड़ी बाधा यह हैं कि डायनासोरों के प्राप्त जीवश्मों से सक्रिय व क्रियाशील DNA प्राप्त करना बहुत ही कठिन हैं | डायनासोरों को दुबारा विकसित करने के घातक परिणाम हो सकते हैं | इनमें अनेक प्रकार की मंजूरी लेना और सरकारी बाधाएँ है |

Danzer Dinosaur

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.