इस पौधे को नरभक्षी पादप के रूप में दिखाया गया

Dionaea Muscipula

Dionaea Muscipula
डायनिया का पादप
इस पौधे को नरभक्षी पादप के रूप में दिखाया गया

पृथ्वी पर पेड़ – पौधें तब से हैं जब से धरती पर जीवन का संचार हुआ हैं |

प्राणी जगत के सभी जीव पेड़ – पौधों पर किसी न किसी प्रकार से निर्भर हैं | क्योंकि पेड़ – पौधों के द्वारा ही ऑक्सीजन का निर्माण होता हैं | जो सभी के जीवित रहने के लिए आवश्यक हैं | पेड़ – पौधों से ही जीवों को भोजन, आश्रय व अन्य महत्वपूर्ण चीजें प्राप्त होती हैं | पेड़ – पौधें जीवन का अस्तित्व बनाये रखने के लिए आवश्यक हैं | आप यह समझते होंगे कि इंसान और जानवर ही मांसाहारी होते हैं | लेकिन आपको जानकर यह आश्चर्य होगा कि इस धरती पर 600 से अधिक पेड़ – पौधों की प्रजाति मांसभक्षी प्रकार की होती हैं | जो जीवों से पोषण प्राप्त करती हैं |

पौधों की इन प्रजातियों में से सबसे अधिक डरावना और विचित्र पौधा हैं वीनस फ्लाईट्रैप ( Dionaea Muscipula ) |

Dionaea Muscipula ( डायोनिआ मुस्सिपुला ) –

इसे वीनस फ्लाईट्रैप ( जाल ) नाम से भी जाना जाता हैं | यह बहुत ही डरावना दिखने वाला पौधा हैं | यह हरे रंग का राक्षस जैसा दिखने वाला पौधा संयुक्त राज्य अमेरिका के अटलांटिक तट पर अर्द्ध समशीतोष्णीय जलवायु में बढ़ता हैं | इसका शिकार करने का तरीका बहुत ही खास और अलग हैं | शिकार को पकड़ने के लिए यह किसी भी प्रकार के रासायनिक तरल या गंध का इस्तेमाल नहीं करता हैं | एक बार कोई कीट या मक्खी इसके मुहँ में आती हैं तो वह बच नहीं पाती | क्योंकि ये कीड़े और दुसरी वस्तु में फर्क समझ भी सकता हैं और कर भी सकता हैं | इस पौधें के आहार में 33 % चींटियाँ, 30 % मकड़ियाँ, 10 – 10 % टिड्डियाँ और बीटल जिसमे लगभग 5 % कीड़े होते हैं | इस पौधें का फ्लाईट्रैप बहुत ही संवेदनशील होता हैं | जो समय के बहुत छोटे भाग में तेजी से बंद और खुल सकता हैं | ऐसा लगता हैं कि इस पौधे का अपना ही एक दिमाग हैं | इसका मुँह तब तक नहीं खुलता जब तक कि वह कीड़ा पूरा पच न जाये | इस पादप को किसी कीट को पचाने में लगभग 10 दिन का समय लगता हैं | आश्चर्य की बात ये हैं कि इस पौधे को कई फूलों की दुकान से ख़रीदा जा सकता हैं | मांसभक्षी पेड़ – पौधें ऐसे स्थानों पर उगते हैं जहाँ पर पोषक तत्वों ( नाइट्रोजन, सल्फर, मैगनिशियम, कैल्शियम आदि ) की कमी होती हैं |

ये पादप सभी आवश्यक तत्वों की पूर्ती करने के लिए कीटों का भक्षण करते हैं |

अनेक हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों में इसे बहुत ही बढ़ा – चढ़ा कर दिखाया गया हैं |

ऐसे पौधों को नरभक्षी पादपो के रूप मे दिखाया गया हैं | लेकिन वास्तविकता यह हैं कि ये पौधें किसी इंसान का भक्षण नहीं कर सकते |

इन पौधों का आकार बहुत ही छोटा होता हैं |

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.