रॉयल जैली ( शाही भोजन )

royal

royal
लार्वों को रॉयल जैली खिलाती हुई मधुमक्खियाँ
रॉयल जैली ( शाही भोजन )

मधुमक्खी एक सामाजिक कीट हैं | जो इंसानों के समान कॉलोनी बना कर रहती हैं | इसमें इंसानों के समान कार्य को वर्गों के अनुसार बाँटा जाता हैं | इसमें छत्ते पर राज करने वाली मधुमक्खी रानी होती हैं | इसमें नर ( ड्रोन ) परागकण एकत्रित करने का कार्य करते हैं | और श्रमिक मधुमक्खियाँ छत्ते का निर्माण, शिशुओं का पालन, रानी की सुरक्षा, छत्ते की सफाई और अन्य कार्य करती हैं |

श्रमिक व रानी मधुमक्खियों में आनुवंशिक दृष्टि से कोई अन्तर नहीं होता, सिर्फ रॉयल जैली का पोषण कुछ दिगुणित लार्वों को रानी बना सकता हैं | जो श्रमिक की तुलना में 21 गुना अधिक लम्बा जीवन जीती हैं | कुछ लार्वों को एक विशेष प्रकार का पोषण दिया जाता हैं जिसे रॉयल जैली या शाही भोजन कहते हैं | भोजन के रूप में दिया जाता हैं जो श्रमिक मधुमक्खियों की विशेष ग्रसनी ग्रंथियों द्वारा तैयार किया जाता हैं | इस विशेष पोषण को प्राप्त कर अंडे ( लार्वे ) 16 दिन में रानी में परिवर्तित हो जाते हैं | जबकि बिना रॉयल जैली के अंडे को वयस्क मधुमक्खी में परिवर्धन होने में कुल 21 या इससे अधिक दिनों का समय लगता हैं |
लेकिन सामान्य रूप से 2 दिनों तक छत्ते के सभी लार्वों को रॉयल जैली का पोषण खिलाया जाता हैं |

रॉयल जैली क्या हैं –

रॉयल जैली नए ( तरूण ) श्रमिकों की फेरिन्जियल ग्रन्थियों द्वारा स्रावित की जाती हैं | केवल रानी हमेशा रॉयल जैली का पोषण खाकर सबसे बड़ी व अधिक ताकतवर होती हैं | लेकिन श्रमिक व नर मधुमक्खियों के लार्वों को शहद व पराग का भोजन कराया जाता हैं |

श्रमिक के कामकाज के आधार पर श्रमिक की आयु लगभग अधिकतम 9 माह होती हैं | रॉयल जैली जनन क्षमता व आयु को प्रभावित करती हैं | इसी कारण छत्ते में रानी मधुमक्खी का जीवन काल 2 से 5 वर्ष होता हैं | जो छत्ते में रहने वाली अन्य मधुमक्खियों के मुकाबले रानी का जीवनकाल कई गुना अधिक होता हैं | इसी कारण रानी मधुमक्खी छत्ते पर राज करती हैं |

रॉयल जैली की विशेष पोषण के कारण रानी मधुमक्खी सबसे अधिक प्रभावशाली होती हैं | प्रत्येक छत्ते में केवल एक ही रानी मधुमक्खी पायी जाती है | जो आकार में अन्य सभी सदस्यों से बड़ी होती हैं | और छत्ते की लगभग सभी मधुमक्खियाँ इसी की संतान होती हैं | रानी के जननांग भी विकसित होते है |

royal

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.