वह विकसित रहस्यमयी प्रजाति कौन थी

mystery

mystery

वह विकसित रहस्यमयी प्रजाति कौन थी

साल 2010 में Germany में स्थित Leipzig जगह पर मेक्सप्लेंक इंस्टिट्यूट ऑफ़ एवेल्युसनरी एन्थ्रोपोलोजी के सवांटे पाओ के नेतृत्व में जीव वैज्ञानिकों की एक टीम ने बड़ी ही चौकानें वाली घोषणा की |

उनका कहना था कि – प्राचीन काल के इंसान न सिर्फ दुसरे प्राचीन होमोनेन्ट जीवों के साथ रहते थे | बल्कि उन होमोनेन्ट जीवों के साथ सहवास भी करते थे | मगर उनकी सबसे दंग करने वाली खोज यह थी कि एक और अनजान प्रजाति के जीवों का DNA, इंसान के DNA में था |
आज तक हम यह जानते थे कि हमारा विकास हमारे पूर्वजों होमो सेपियन्स से हुआ हैं और उनसे हम आज के इंसान बने हैं |

लेकिन अब वो बात गलत साबित हो चुकी हैं | अब हमें इस बात के सबूत मिल रहे हैं कि उस समय किस तरह Inter Breeding ( अंत प्रजनन ) हो रही थी जिससे हम इंसानों की रहस्यमयी ( Mysterious ) प्रजाति मानते हैं | इस बात पर अनेक वैज्ञानिकों का अलग – अलग सोचना हैं कि निएंडरथल और दुसरे जीव इंसानों के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाते थे या नहीं |

वैज्ञानिकों का मानना हैं कि उस समय ऐसा संभव होने पर इंसानों की हाईब्रिड प्रजाति भी पैदा हो सकती थी |
विस्कोसियन युनिवर्सिटी के मानव शास्त्री डॉ. जॉन होक्स ने कई हजार साल पुराने इंसान का बहुत ही बारीकी से निरिक्षण किया | और वो नतीजो से बड़े ही दंग रह गए | उनका कहना हैं कि अगर हम 3000 ईसा पूर्व के किसी व्यक्ति के DNA की तुलना आज के किसी इंसान से करें तो उसमे 7 % का बदलाव नजर आता हैं |

इंसान के जीनोम का अध्धयन करते हुए |
mystery
DNA के विकास को दर्शाता हुआ ग्राफ

डॉ. होक्स ने देखा कि पिछले 5000 सालों में, हमारा DNA इतिहास में उसके पहले के 5000 साल की तुलना में 100 गुना तेजी से विकसित हुआ हैं |
तो ऐसा माना जाता हैं इन 5000 सालों में इंसान के DNA के साथ ऐसा क्या हुआ कि वह इतनी तेजी से विकसित हुआ |

कुछ लोगो का मानना हैं कि इंसान के तेजी से विकास करने पर हुआ तथा कुछ लोगो का मानना हैं कि ऐसा किसी विकसित प्रजाति के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने पर इंसान के DNA में इतनी तेजी से विकास हुआ | वैज्ञानिकों और लोगो के बीच यह रहस्य अभी भी बना हुआ हैं कि वह विकसित रहस्यमयी प्रजाति कौन थी |

mystery

No comments:

Recent Post

ads
Powered by Blogger.